page contents Importance of Bharat Ratna in Hindi कुछ रोचक और महत्वपूर्ण तथ्य - Online Study Help
Abhidhek Kushwah

Importance of Bharat Ratna in Hindi कुछ रोचक और महत्वपूर्ण तथ्य

Hello Friends Welcome to Online Study Help

Importance of Bharat Ratna in Hindi कुछ रोचक और महत्वपूर्ण तथ्य

भारत रत्न पुरस्कार

Ø देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ की शुरुआत 1954 से हुई।

Ø इस अलंकरण से उन व्यक्तियों को सम्मानित किया जाता है जिन्होंने देश के किसी भी क्षेत्र में महत्त्वपूर्ण कार्य किए हों, अपने-अपने क्षेत्रों में उत्‍कृ‍ष्‍ट कार्य कर हमारे देश का गौरव बढ़ाया और हमारे देश को अंतरराष्‍ट्रीय मान्‍यता प्राप्त हुई।

Ø भारत रत्‍न उच्‍चतम नागरिक सम्‍मान है, जो कला, साहित्‍य, विज्ञान, राजनीतिज्ञ, विचारक, वैज्ञानिक, उद्योगपति, लेखक और समाजसेवी को असाधारण सेवा के लिए तथा उच्च लोक सेवा को मान्‍यता देने के लिए भारत सरकार की ओर से दिया जाता है।

Ø अब तक विभिन्न क्षेत्रों की 45 हस्तियों को भारत रत्न के सम्मान से नवाजा जा चुका है। पहला भारत रत्न का सम्मान देश के दूसरे राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 1954 में प्रदान किया।

भारत रत्न पुरस्कार से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य:

Ø इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी।

Ø भारत रत्न 26 जनवरी को भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है।

Ø एक वर्ष में अधिकतम तीन व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जा सकता है।

Ø जनता पार्टी द्वारा इस पुरस्कार को 1977 में बंद कर दिया गया था किंतु 1980 में कांग्रेस सरकर ने इसे फिर से दोबारा शुरू किया।

Ø 1980 में दोबारा शुरू होने पर इसे सर्वप्रथम मदर टेरेसा ने प्राप्त किया था।

Ø हमारे भूतपूर्व राष्‍ट्रपति, वैज्ञानिक डॉ. ए. पी. जे. अब्‍दुल कलाम को भी 1997 में यह प्रतिष्ठित पुरस्‍कार दिया गया।

भारत रत्न पुरस्कार से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य:

Ø इसका कोई लिखित प्रावधान नहीं है कि ‘भारत रत्‍न’ केवल भारतीय नागरिकों को ही दिया जाएगा।

Ø यह पुरस्‍कार स्‍वाभाविक रूप से भारतीय नागरिक बन चुकी ‘एग्‍नेस गोंखा बोजाखियू’, जिन्‍हें हम मदर टेरेसा के नाम से जानते हैं, को दिया गया।

Ø दो अन्‍य अभारतीय – ख़ान अब्दुलगफ़्फ़ार ख़ान को 1987 में और नेल्‍सन मंडेला को 1990 में यह पुरस्कार दिया गया।

Ø यह भी अनिवार्य नहीं है कि भारत रत्‍न सम्‍मान प्रतिवर्ष दिया जाएगा।

भारत रत्न पुरस्कार से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य:

Ø प्रारम्भ में इस सम्मान को मरणोपरांत देने का प्रावधान नहीं था, यह प्रावधान 1955 में बाद में जोड़ा गया।

Ø तत्पश्चात् 13 व्यक्तियों को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया गया।

Ø सुभाष चन्द्र बोस को घोषित सम्मान वापस लिए जाने के उपरान्त मरणोपरान्त सम्मान पाने वालों की संख्या 12 मानी जा सकती है।

Ø मरणोपरांत सर्वप्रथम लालबहादुर शास्त्री को भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

Ø श्री सत्यपाल आनन्द ने राजीव गाँधी को मरणोपरांत भारत रत्न देने की प्रक्रिया को मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी।

Download PDF Here – Importance of Bharat Ratna in Hindi कुछ रोचक और महत्वपूर्ण तथ्य

तो दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें ! अब आप हमें Facebook पर Follow कर सकते है !  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *